Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana 2022: इस योजना के द्वारा प्रेग्नेंट महिलाओं को मिलती है ये सुविधाएं, इस तरह से करें रजिस्ट्रेशन

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana: क्या आप भी गर्भवती है और चाहती है कि, आपको सभी गर्भावस्था के दौरान मिलने वाले चिकित्सा सुविधायें मुफ्त मिले और 5000 रुपयो की आर्थिक सहायता मिले तो  हमारा यह आर्टिकल केवल आपके लिए है जिसमें हम, आपको विस्तार से Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana की पूरी जानकारी प्रदान करेगे।

हम, आपको बता दें कि, गर्भवती माता या बहन का प्रशव से पूर्व Blood Pressure Test, Blood Test, Urine Test, Himoglobin Test and Ultra Sound  आदि की जांच प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत नि-शुल्क की जाती है।

⬇️ Download Bihar Help Mobile App📱

Jobs & शिक्षा से जुड़ी सभी जानकारी ! (यहाँ Click करें 👆)

अन्त, हमारे सभी गर्भवती मातायें व बहने सीधे इस लिंक – https://pmsma.nhp.gov.in/about-scheme/?lang=hi#about  की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है और इस योजना का पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकते है।

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana – संक्षिप्त परिचय

पोर्टल का नाम राष्ट्रीय हेल्थ पोर्टल
योजना का नाम Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana
योजना क प्रकार सरकारी योजना
योजना का लाभ गर्भवती माता या बहन का प्रशव से पूर्व Blood Pressure Test, Blood Test, Urine Test, Himoglobin Test and Ultra Sound  आदि की जांच प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत नि-शुल्क की जाती है और

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana के तहत सभी गर्भवती माताओं व बहनो को 5000 रुयो तक मुफ्त चिकित्सा – सुविधा प्रदान की जाती है।

योजना का उद्धेश्य चिकित्सकों/विशेषज्ञों द्वारा दूसरी या तीसरी तिमाही की सभी गर्भवती महिलाओं को कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच सुनिश्चित करना हैं
Official Website Click Here




Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana

हम, अपने इस आर्टिकल मे, अपनी सभी गर्भवती माताओं व बहनो का स्वागत करते हुए आपको Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana के बारे में बताना चाहते है ताकि हमारी सभी गर्भवती मातायें व बहने इस योजना का पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकें।

हम, आपको बता दें कि, गर्भवती माता या बहन का प्रशव से पूर्व Blood Pressure Test, Blood Test, Urine Test, Himoglobin Test and Ultra Sound  आदि की जांच प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत नि-शुल्क की जाती है।

अन्त, हमारे सभी गर्भवती मातायें व बहने सीधे इस लिंक – https://pmsma.nhp.gov.in/about-scheme/?lang=hi#about  की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते है और इस योजना का पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकते है।

Read Also –Bagvani Mahotsv Sah Pratiyogita 2022: मिलेगा ₹10000 तक पुरूस्कार, जाने पूरी जानकारी

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana का लक्ष्य क्या है?

अब हम, आप सभी को कुछ बिंदुओं की मदद से इस पूरी योजना व अभियान के प्राथमिक लक्ष्यो की जानकारी प्रदान करेगे जो कि, इस प्रकार से हैं –

इस कार्यक्रम के निम्नलिखित उद्देश्य हैं:

  • चिकित्सकों/विशेषज्ञों द्वारा दूसरी या तीसरी तिमाही की सभी गर्भवती महिलाओं को कम से कम एक प्रसव पूर्व जांच सुनिश्चित करना हैं,
  • प्रसव पूर्व जाँच के दौरान देखभाल की गुणवत्ता सुधारना, जिसमें निम्नलिखित सेवाएं शामिल हैं:
    • सभी उपयुक्त नैदानिक ​​सेवाएं,
    • उपयुक्त नैदानिक स्थितियों के लिए स्क्रीनिंग,
    • कोई भी नैदानिक स्थितियां जैसे कि रक्ताल्पता, गर्भावस्था प्रेरित उच्च रक्तचाप, गर्भावधि मधुमेह आदि का उचित प्रबंधन,
    • उचित परामर्श सेवाएं एवं सेवाओं का उचित प्रलेखन रखना,
    • उन गर्भवती महिलाओं को, जो किसी भी कारण से अपनी प्रसव पूर्व जाँच नहीं करा पायी, उन्हें अतिरिक्त अवसर प्रदान करना,
    • प्रसूति/चिकित्सा के इतिहास और मौजूदा नैदानिक स्थिति के आधार पर उच्च ज़ोखिम गर्भधारण की पहचान और लाइन-सूची करना,
    • हर गर्भवती महिला को विशेषत रूप से जिनकी पहचान किसी भी ज़ोखिम कारक या सहरुग्णता स्थिति में की गयी हैं, उनके लिए उचित जन्म योजना और जटिलता की तैयारी करना,
    • कुपोषण से पीड़ित महिलाओं में रोग का जल्दी पता लगाने, पर्याप्त और उचित प्रबंधन पर विशेष ज़ोर देना। किशोर और जल्दी गर्भधारण पर विशेष ध्यान देना, क्योंकि इन गर्भधारणों में अतिरिक्त एवं विशेष देखभाल की ज़रूरत होती है आदि।




अन्त, इस प्रकार हमने आपको विस्तार से इस योजना के तहत जारी सभी उद्धेश्यो की जानकारी प्रदान की ताकि आप सभी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana

( PMSMA ) प्राथमिक विशेषतायें – Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana in hindi

आइए अब हम, आप सभी को कुछ बिंदुओं की मदद से योजना के तहत जारी अभियान की विशेषतायें बतायें जो कि, इस प्रकार से हैं –

  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमसएमए) देश में तीन करोड़ से अधिक गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व देखभाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया है,
  • इस अभियान के तहत लाभार्थियों को हर महीने की नवीं तारीख़ को प्रसव पूर्व देखभाल सेवाओं (जांच और दवाओं सहित) का न्यूनतम पैकेज प्रदान किया जाएगा,
  • यदि किसी माह में नवीं तारीख को रविवार या राजकीय अवकाश होने की स्थिति में अगले कार्यदिवस पर यह दिवस आयोजित किया जाएगा,
  • इन सेवाओं को स्वास्थ्य सुविधा/आउटरीच पर नियमित एएनसी के अतिरिक्त प्रदान किया जाएगा,
  • इन सेवाओं को शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में निर्धारित सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी/सीएचसी,डीएच/शहरी स्वास्थ्य केंद्रों आदि) पर उपलब्ध कराया जाएगा,
  • जब कि इसका लक्ष्य सभी गर्भवती महिलाओं तक पहुंचना है, पर विशेष रूप से यह प्रयास होगा कि वे महिलाएं जिन्होंने एएनसी के लिए रजिस्टर नहीं किया है, तथा जिन्होंने रजिस्टर किया है, लेकिन एएनसी सेवाओं का लाभ नहीं उठाया है, एवं उच्च ज़ोखिम गर्भवती महिलाओं तक पहुंचें,
  • आवश्यक रूप से, ये सेवाएं ओबीजीवाई विशेषज्ञों/चिकित्सकों द्वारा उपलब्ध करायी जाएगी। निजी क्षेत्र के ओबीजीवाई विशेषज्ञों/चिकित्सकों को, जहां सरकारी क्षेत्र के चिकित्सक उपलब्ध या पर्याप्त नहीं हैं, वहां सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में स्वैच्छिक सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा,
  • एकल खिड़की प्रणाली के सिद्धांतों का उपयोग करते हुए, यह सुनिश्चित किया गया है, कि पीएमएसएमए क्लीनिक में आने वाली सभी गर्भवती महिलाओं को जांच का न्यूनतम पैकेज (गर्भावस्था की दूसरी तिमाही के दौरान अल्ट्रासाउंड सहित) तथा दवाएं जैसे कि आइएफए सप्लीमेंट, कैल्शियम सप्लीमेंट आदि प्रदान की जाएगी,
  • गर्भवती महिलाओं को मातृ एवं बाल संरक्षण कार्ड तथा सुरक्षित मातृत्व पुस्तिकाएं दी जाएगी,
  • उच्च ज़ोखिम वाली गर्भवती महिलाओं की पहचान एवं फॉलो-अप करना अभियान के महत्वपूर्ण घटकों में से एक है,
  • स्टीकर, जो कि गर्भवती महिला की स्थिति एवं ज़ोखिम के कारक को दर्शाएगा, इस स्टीकर को एमसीपी कार्ड पर हर जाँच के दौरान जोड़ा जाएगा,
  • हरा स्टी– सामान्य गर्भावस्था वाली महिला होने पर,
  • लाल स्टीकर– उच्च ज़ोखिम वाली महिला होने पर,
  • निज़ी/स्वैच्छिक क्षेत्रों को शामिल करने के लिए पीएमएसएमए एवं मोबाइल एप्लीकेशन को राष्ट्रीय पोर्टल पर विकसित किया गया है आदि।

अन्त, इस प्रकार हमने अपनी सभी गर्भवती माताओं व बहनो को Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana के तहत मिलने वाले सभी लाभों  विशेषताओं की जानकारी प्रदान की।




Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana का लाभ क्या है?

आइए अब हम, आपको विस्तार से Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana के तहत प्राप्त होने वाले सभी लाभों व विशेषताओं की जानकारी प्रदान करते है जो कि, इस प्रकार से हैं –

  • Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana के तहत सभी गर्भवती माताओं व बहनो को 5000 रुयो तक मुफ्त चिकित्सा – सुविधा प्रदान की जाती है,
  • हमारी गर्भवती माताओं व बहनो का सफलतापूर्वक प्रसव हो सकें इसके लिए उन्हें अधिक से अधिक अस्पतालों की सुविधा प्रदान की जाती है,
  • हम, आपको बता दें कि, गर्भवती माता या बहन का प्रशव से पूर्व Blood Pressure Test, Blood Test, Urine Test, Himoglobin Test and Ultra Sound  आदि की जांच प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत नि-शुल्क की जाती है,
  • यदि प्रसव के दौरान महिला की स्थिति बिगड़ती है तो उन्हें उच्च अस्पतालो में रेफऱ किया जा सकता है और उच्च अस्पतालो में गर्भवती माताओ व बहनो को पंहुचाने की पूरी व्यवस्था की जाती है,
  • इस योजना की मदद से देश के सभी शहरी / ग्रामीण गर्भवती माताओं व बहनो को गर्भावस्था के दौरान बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान की जाती है,
  • योजना के तहत सभी गर्भवती माताओं व बहनो को हर महिने की पहली से लेकर 9 तारिख तक अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर निशुल्क जांच व ईलाज की सुविधा प्रदान की जाती है आदि।

अन्त, इस प्रकार हमने आपको विस्तार से इस योजना के तहत प्राप्त होने वाले भी प्रकार के लाभों व विशेषताओँ की पूरी जानकारी प्रदान की ताकि आप सभी जल्द से जल्द इस योजना में आवेदन करके इसका लाभ प्राप्त कर सकें।

How to Apply in Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana?

हमारी सभी गर्भवती मातायें व बहने इस योनजा में, आसानी से आवेदन कर सकते है जिसकी पूरी आवेदन प्रक्रिया कुछ इस प्रकार से हैं –

  • Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र या सरकारी अस्पताल में जाना होगा,
  • वहां से आपको योजना में, आवेदन के लिए जारी आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा,
  • इसके बाद आपको स आवेन फॉर्म को ध्यान से भरना होगा,
  • मांगे जाने वाले सभी दस्तावेजो की छायाप्रति को अपने आवेदन फॉर्म के साथ अटैच करना होगा और
  • अन्त में, आपको अपने इस आवेदन फॉर्म को उसी आंगनवाड़ी केंद्र या फिर सरकारी अस्पतला में जमा करना होगा और इसकी रसीद प्राप्त कर लेनी होगी आदि।

अन्त, इस प्रकार हमारी सभी गर्भवती मातायें व बहने योजना में आवेदन करके इस योजना का पूरा – पूरा लाभ प्राप्त कर सकती है।

निष्कर्ष

अपने इस आर्टिकल में हमने अपनी सभी गर्भवती माताओँ व बहनो को विस्तार से Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana की पूरी जानकारी प्रदान की ताकि आप सभी जल्द से जल्द इस योजना में आवेदन करके इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकें।

अन्त, हम उम्मीद व आशा करते है कि, हमारी सभी गर्भवती माताओँ व बहनो को हमारा यह आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा जिसके लिए आप हमारे इस आर्टिकल को लाइक करेगे, शेयर करेके और कमेंट करके अपने विचार व सुझाव भी सांक्षा करेंगे।

Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana – महत्वपूर्ण लिंक्स




Help Line Number 1800 180 1104
Join Our Telegram Group Click Here
Official Website Click Here

FAQ’s – Pradhanmantri Surakshit Matritva Yojana

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान कब लागू किया गया?

भूमिका गर्भवती महिलाओं के लिए नौ जून को एक नई स्वास्थ्य योजना प्रधान मंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान (पीएमएसएमए) शुरू की है ।

मातृत्व क्या होता है?

इसे सुनें मातृत्व का सुख वह सुख है जिसे शब्दों में बयाँ नहीं किया जा सकता है। स्त्री को पूर्णता प्रदान करने वाला यह सुख कई नए रिश्तों को जन्म देता है। मातृत्व को लेकर आजकल की महिलाओं में कई सारी भ्रांतियाँ हैं। पहली बार गर्भवती होने वाली महिला के लिए तो प्रसव पीड़ा व होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य को लेकर बहुत चिंताएँ होती हैं।

मातृत्व अवकाश कितने दिनों का मिलता है?

मातृत्व लाभ (संशोधन) अधिनियम, 2017 के अनुसार गर्भवती महिला 26 सप्ताह यानि साढ़े छह महीने तक मातृत्व अवकाश की पात्र होती हैं। यह प्रसव की अनुमानित तिथि से आठ सप्ताह पहले से शुरू हो सकती है। लेकिन इस अवकाश के साथ यह शर्त जुड़ी है कि कोई भी महिला अपनी पहली दो गर्भावस्थाओं के लिए यह अवकाश ले सकती है।

मैटरनिटी लीव कब ले सकते है?

मातृत्व अधिनियम के अनुसार, आप मातृत्व अवकाश कब शुरू कर सकते हैं? मातृत्व लाभ संशोधन अधिनियम 2017 के तहत, मातृत्व अवकाश महिलाएं डिलीवरी की अनुमानित तारीख से आठ सप्ताह पहले और शेष प्रसव के बाद ले सकती हैं।

Updated: 16/02/2022 — 2:55 PM

1 Comment

Add a Comment
  1. Madhuri vikas pervi

    Pradhan mantri matrutva yojana ke nam pe hame sarkar ke karmachario ne chuna lagaya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *