केंद्रीय कर्मचारियों की हो गई बल्ले बल्ले सरकार ने लागू की पुरानी पेंशन! जाने कैसे मिलेगा आपको लाभ?

Old Pension Scheme 2023 :-नमस्कार दोस्तों क्या आप भी  केंद्र सरकार में कर्मचारी हैं अथवा आपके परिवार का कोई सदस्य है यदि आपका जवाब हां है तो यह लेख विशेष रूप से आपके लिए ही है।भाइयों एवं बहनों केंद्र की मोदी सरकार आप सभी के लिए एक खुशखबरी! भरी कार्य कर रही है। अब केंद्र सरकार में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को मोदी सरकार उनके बुढ़ापे हेतु पेंशन देने का विकल्प शुरू कर दी है, कर्मचारी 31 अगस्त तक अपने पेंशन को चुन सकते हैं कि वह पुरानी पेंशन स्कीम के तहत लाभ लेना चाहते हैं अथवा नेशनल पेंशन स्कीम के अंतर्गत लाभ लेना चाहते हैं।

Old Pension Scheme 2023

 आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार तथा राज्य सरकार अपने राज्य में सरकारी नौकरी करने वाले कर्मचारियों को उनके बुढ़ापे में पेंशन मुहैया कराती है पेंशन की राशि उतनी होती है जितनी उनकी आखिरी सैलरी है उसकी आधी, इस योजना का लाभ कर्मचारियों को लंबे समय तक प्राप्त हुआ था परंतु वर्ष 2002 में इसमें कुछ बदलाव कर दिया गया था।

⬇️ Download Bihar Help Mobile App📱
Jobs & शिक्षा से जुड़ी सभी जानकारी ! (यहाँ Click करें 👆)

22 दिसंबर 2003 से ही राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली(NPS) को अधिसूचित किया गया था अब यह कर्मचारी केंद्रीय सिविल सेवा पेंशन नियम 1972 तथा वर्तमान में 2021 के तहत पुरानी पेंशन के लिए पात्र हैं इन दोनों विकल्पों में से किसी एक को चुनने हेतु कर्मचारियों के पास 31 अगस्त 2023 तक समय निर्धारित किया गया है।Old Pension Scheme 2023

Old Pension Scheme 2023-Overview

Scheme Name Old Pension Scheme
Article Name Old Pension Scheme 2023
Article Type Latest Update
Government Central Government
Beneficiary All India Government Employees
Scheme Years 2023
Official website Click Here



क्या है पेंशन योजना और इसका इतिहास ?-Old Pension Scheme 2023

भारत में पुरानी पेंशन योजना (OPS) 1 जनवरी, 2004 से पहले सरकारी सेवा में शामिल होने वाले केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए एक गारंटीकृत पेंशन योजना थी। यह कर्मचारियों को उनकी सेवा की अवधि और उनकी सेवा के पिछले 10 महीनों के औसत वेतन के आधार पर पेंशन का हकदार बनाती है। सेवानिवृत्ति या 60 वर्ष की आयु तक पहुंचने पर पेंशन का भुगतान सेवानिवृत्त कर्मचारी को किया गया था। केंद्र सरकार के सभी नए कर्मचारियों के लिए 1 जनवरी, 2004 को एक नई पेंशन योजना, राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) शुरू की गई थी।

एनपीएस एक सरकार द्वारा निर्धारित अंशदान पेंशन योजना है जिसमें कर्मचारी अपने वेतन का एक निश्चित प्रतिशत एक सेवानिवृत्ति खाते में योगदान करता है जिसे विभिन्न वित्तीय साधनों में निवेश किया जाता है इसके साथ ही कुछ धन सरकार अपने पास से जमा करके सेवानिवृत्त कर्मचारियों को प्रदान करती है।Old Pension Scheme 2023

ये भी पढ़ें-

विशेष प्रावधान- Old Pension Scheme 2023

1 जनवरी, 2004 से पहले सेवा में शामिल होने वाले कर्मचारियों के पास पुरानी पेंशन योजना जारी रखने या नई एनपीएस में स्विच करने का विकल्प था। हालांकि, एक बार जब कोई कर्मचारी एनपीएस में स्विच कर लेता है, तो वह पुरानी पेंशन योजना में वापस नहीं जा सकता है।इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार नई पेंशन योजना 2021 लेकर आई है, इसमें भी कर्मचारियों को यह विकल्प दिया गया है कि वह या तो पुरानी पेंशन योजना मैं खुद को स्विच कर लें अथवा नेशनल पेंशन योजना का लाभ लेते रहे, इसके लिए इन कर्मचारियों को 31  तक डेट निर्धारित किया गया है।

पुरानी पेंशन योजना में बदलाव करने हेतु सरकार का तर्क-Old Pension Scheme 2023

 दोस्तों आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने इस योजना को बदलने के लिए जो तर्क दिया था वह था कि इस योजना के माध्यम से सरकार के ऊपर बहुत अधिक वित्तीय बोझ पड़ रहा है। इसके बाद सरकार ने पुराने पेंशन स्कीम को हटाकर नए स्कीम की शुरुआत की जिसे नेशनल पेंशन स्कीम (NPS) के नाम से जाना जाता है। इस कदम के बाद कर्मचारियों के एनपीएस के योगदान को सामान्य भविष्य निधि(GPS) में जमा किया जाएगा। इस जमा धनराशि में सरकार अपनी तरफ से कुछ धन मिलाकर या फिर ब्याज दर के साथ कर्मचारियों को सेवा से मुक्त करने के बाद उन्हें सरकार यह धन मुहैया  कराती थी।

पेंशन योजना को लेकर सरकार के ऊपर हुए सैकड़ों मुकदमा-Old Pension Scheme 2023

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुरानी पेंशन योजना केंद्रीय कर्मचारियों को काफी सहूलियत प्रदान करने वाली योजना थी। सरकार द्वारा इस योजना को निरस्त करने के बाद ढेर सारे कर्मचारियों द्वारा अदालत का रुख किया गया था। इन दर्ज मुकदमों में सरकार एक भी मुकदमा जीत नहीं पाई थी फल स्वरुप सरकार को कर्मचारियों की बात को माननी पड़ी।

 आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 31 जनवरी तक एनपीएस यानी नेशनल पेंशन स्कीम के अंतर्गत 2365693 केंद्रीय कर्मचारी तथा 732768 राज्य सरकार के कर्मचारी नामांकित हो चुके हैं। एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि “इस मामले में सरकार पर किए गए काफी मुकदमों के बाद सरकार की तरफ से यह फैसला लिया गया है कि पुरानी पेंशन को बहाल किया जाएगा। देशभर की अदालतों में दर्ज मुकदमों में से सरकार की एक भी मुकदमा जीत नहीं पा रही है“Old Pension Scheme 2023



केंद्र सरकार ने जारी किया आदेश- Old Pension Scheme 2023

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि जो कर्मचारी पुरानी पेंशन के विकल्प का उपयोग करने हेतु पात्र हैं वह अंतिम तिथि 31 अगस्त तक इस विकल्प का चयन कर सकते हैं, यदि किसी कारणवश वह इस विकल्प का चयन नहीं करते हैं तो उन्हें राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के तहत कवर किया जारी रहेगा आदेश में यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि एक बार विकल्प का चुनाव कर देने के बाद इसमें बदलाव की गुंजाइश नहीं होगी।Old Pension Scheme 2023

सारांश-Old Pension Scheme 2023

 दोस्तों  उपरोक्त में हमने पुरानी पेंशन योजना तथा नई पेंशन योजना से जुड़ी नई अपडेट को आपसे साझा किया है। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा BIHAR HELP इसी प्रकार की नई-नई योजनाओं को हमेशा आपसे साझा करता रहता है। केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार द्वारा किसी भी प्रकार की अपडेट आने पर यह पोर्टल आपको सबसे पहले जानकारी देता है, इसके साथ ही हमारा प्रयास होता है कि जो जानकारी अपने पाठकों को दे रहे हैं वह  किसी ने किसी वेरीफाइड  माध्यम से प्राप्त हो, अथवा सरकार के द्वारा अधिकारीक नोटिफिकेशन से प्राप्त जानकारी होती है।

अतः आप चाहे तो इस पोर्टल के नोटिफिकेशन  बेल  को ऑन भी कर सकते हैं, जिससे किसी भी प्रकार की लेटेस्ट जानकारी को आपसे सबसे पहले हमारा पोर्टल साझा कर सकें।

क्विक लिंक्स

Official Website Click Here
Join Our Telegram Group Click Here

 

Atal Pension Yojana: 60 सालों तक हर महिने मात्र ₹ 1,454 रुपयो का निवेश कर पाये प्रतिमाह पूरे ₹ 5,000 रुपयो की पेंशन?

FAQ’s-Old Pension Scheme 2023

क्या होता है पेंशन योजना?

साधारण पेंशन किसे कहा जाता है जब कोई व्यक्ति वृद्ध हो जाता है, अथवा वह किसी कारणवश कोई भी कार्य करने योग्य नहीं होता है तो उसे सरकार अथवा कोई भी संस्था पेंशन देकर उसे वित्तीय मदद मुहैया कराती है।

सरकार द्वारा पेंशन अपने कर्मचारियों को कितने वर्ष बाद दिया जाता है?

सरकार अपने यहां के कर्मचारियों को उनकी सेवा समाप्त होने के बाद अथवा उनके 60 साल पूरे होने के बाद केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार उन्हें पेंशन देती है।

पुरानी पेंशन योजना की शुरुआत कब की गई थी?

पुरानी पेंशन योजना कर्मचारी केंद्रीय सिविल सेवा नियम 1972, जो कि वर्तमान में पेंशन स्कीम 2021 के नाम से जानी जाती है।

Old Pension Scheme 2023

Related Posts

Updated: 23/03/2023 — 10:41 AM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *