Advocate Kaise Bane – 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद बनें वकील, यहां जाने स्टेप बाय स्टेप प्रक्रिया! 

“भारत देश में एक मान्यता मशहूर है कि चाहें हजारों दोषी को छोड़ना पड़ें, लेकिन एक बेगुनाह को सजा कभी नहीं होनी चाहिए”! 

How to Become an Advocate: आज भारत में न्याय प्रणाली कुछ हद तक लड़खड़ाई हुई है लेकिन अगर आप चाहते हैं कि न्याय प्रणाली में सुधार हो और अगर आप लोगों के अधिकार के लिए लड़ना चाहते हैं तब आपको एडवोकेट बनने की तरफ कदम बढ़ाना चाहिए

⬇️ Download Bihar Help Mobile App📱
Jobs & शिक्षा से जुड़ी सभी जानकारी ! (यहाँ Click करें 👆)

एडवोकेट एक बहुत ही शक्तिशाली पद है अगर आप लोगों को न्याय दिलाने में उनकी मदद करना चाहते हैं तब आप बेशक अधिवक्ता बनने के लिए तैयार है 

Vakil Kaise Bane या Lawyer Kaise Bane और 12वीं या ग्रेजुएशन करने के बाद लॉयर (Lawyer) से अधिवक्ता (Advocate) बनने की तरफ अपना कदम कैसे बढ़ाना है? यह इस बार पर निर्भर करता है कि आप हमेशा सही मार्ग का चयन करें 

आपके द्वारा चयन किया गया कॉलेज और आपका आत्मविश्वास ही आपकी कानूनी यात्रा और जीवन को परिभाषित करता है अगर आप सही मायने में एक वकील बनना चाहते हैं तब हमारे इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ लेवें 

Advocate Kaise Bane

एडवोकेट क्या है What is an Advocate in Hindi

  • Advocate को हम अपनी हिंदी भाषा में ‘अधिवक्ता’ भी कहते है काफी लोग होंगे जो लॉयर और एडवोकेट को एक ही व्यक्ति मानते हैं बल्कि ऐसा नहीं है एडवोकेट और लॉयर दोनों अलग-अलग होते है कोई भी कानून की डिग्री हासिल करने के बाद लॉयर बन सकता है लेकिन लॉयर से एडवोकेट में प्रमोट होने के लिए एक लॉयर को बार काउंसिल में रजिस्ट्रेशन करवाना होता है
  • एक एडवोकेट अपने क्लाइंट को उनके अधिकारों और दायित्व के बारे में शिक्षित करता है यानी कि यह एक कानूनी सलाहकार भी होते है एडवोकेट अपने किसी भी क्लाइंट को अधिकार दिलाने के लिए उसे कोर्ट में रिप्रेजेंट कर सकता है



  • एक एडवोकेट न्याय प्राणी को बेहतर बनाता है और कानूनी प्रवक्ता के रूप में कार्य करके देश की प्रगति को आगे बढाता है
  • अगर हम सामान्य भाषा में कहें तो एडवोकेट एक कैसे व्यक्ति को कहते हैं जिसने अपनी कानून की पढ़ाई को पूरा कर लिया है और अब वह ‘कोर्ट में किसी दो पक्षों में से एक पक्ष की तरफ से दलील प्रस्तुत कर सकता है और अपने क्लाइंट को कोर्ट में रिप्रेजेंट कर सकता है’ एक बात का अवश्य ध्यान रखिए की एक लॉयर,एडवोकेट और बैरिस्टर में काफी अंतर होता है

Read Also..

12वीं कक्षा के बाद एडवोकेट कैसे बने? How to Become an Advocate after 12th Class

  • 12वीं कक्षा के बाद एडवोकेट बनने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा को न्यूनतम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण करना होगा अगर आप शीर्ष कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करने के इच्छुक है तब आप अधिकतम अंक लाने पर विचार कर सकते है 
  • कानून के छात्रों के लिए अर्थशास्त्र, इतिहास, मनोविज्ञान, राजनीतिक विज्ञान कुछ ऐसे विषय हैं जो की काफी ज्यादा फायदेमंद है
  • अगर आप किसी शीर्ष कॉलेज संस्थान में एडमिशन प्राप्त करना चाहते हैं तब आप किसी लॉ एंट्रेंस एग्जाम जैसे;- की CLAT, AILET, LSAT आदि के बारे में विचार कर सकते है आपके एंट्रेंस एग्जाम का स्कोर इस बात को तय करेगा की आपको शीर्ष कॉलेज में एडमिशन मिल सकता है. या नहीं 

12वीं कक्षा के बाद लॉ कोर्स का चयन करें Best law course After 12th Class

  • अगर आप 12वीं कक्षा के बाद कानून की पढ़ाई करना चाहते हैं तब आपके लिए कई सारे विकल्प और पाठ्यक्रम मौजूद है कानून की पढ़ाई के लिए आपके पास कई तरह के पाठ्यक्रम है जैसे;- B.A.LL.B., B.Com.LL.B., B.B.A.LL.B आदि 
  • हालांकि अगर आप कानून में उच्च विशेषज्ञाताओं को हासिल करना चाहते हैं तब आप 5 सालके कानूनी पाठ्यक्रम को चुन सकते हैं जिसमें बीएससी एलएलबी, बीबीए एलएलबी और बीकॉम एलएलबी सहित बीए एलएलबी शामिल है। हालांकि कुछ प्रमुख विश्वविद्यालय B.A.LL.B की प्रमुखता ज्यादा दिखाते है।



12वीं कक्षा के बाद अपनी कानूनी विशेषज्ञता का चयन करें 

  • वैसे तो 12वीं कक्षा के बाद आपके पास कानूनी पाठ्यक्रम को लेकर कई ऑप्शन मौजूद होते है। हालांकि आपको यह भी ध्यान में रखना जरूरी है कि आप केवल सामान्य कानून सीखना चाहते हैं या फिर आप मीडिया कानून, अंतरराष्ट्रीय कानून, साइबर कानून, वायु और अंतरिक्ष कानून या मानव अधिकार कानून में विशेषज्ञता हासिल करना चाहते है। आप जिस भी फील्ड में विशेषज्ञता हासिल करना चाहते हैं आप उसी प्रकार अपने पाठ्यक्रम का चयन करें।
  • एक बात का अवश्य ध्यान रखें की 5 साल चलने वाले डिग्री कार्यक्रम में आपको अधिक सीखने को मिलता है और आपको ज्यादा वेतन मिलने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है।

12वीं कक्षा के बाद एलएलबी B.LLB After 12th Class

  • 12वीं कक्षा के बाद बैचलर ऑफ लॉ या एलएलबी, कानूनी सेवाओं से संबंधित स्नातक डिग्री कोर्स है। 12वीं कक्षा के बाद एलएलबी कार्यक्रम आपको कानून को और अधिक समझने में मदद करता है। 
  • एलएलबी पाठ्यक्रम 3 वर्ष से 5 वर्ष तक की अवधि का हो सकता है। वहीं अगर आप 5 वर्ष के एलएलबी कार्यक्रम की खोज कर रहे है। तब बीए एलएलबी, बीएससी एलएलबी, बीकॉम एलएलबी आदि  ऐसे पाठ्यक्रम में जो 5 वर्ष की अवधि तक के है।

12वीं कक्षा के बाद बीए एलएलबी BA.LLB After 12th Class

  • 12वीं कक्षा के बाद बीए एलएलबी 5 वर्ष की अवधि वाला कानूनी कोर्स है। बीए एलएलबी पाठ्यक्रम के लिए आपको 12वीं कक्षा को न्यूनतम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण करना होगा। वही आपकी आयु सीमा भी 20 वर्ष होनी चाहिए। 
  • बीए एलएलबी पाठ्यक्रम में विशेष रूप से व्यवसाय कानून, प्रशासनिक कानून, संवैधानिक कानून, अपराध विज्ञान, अर्थशास्त्र, पर्यावरण कॉर्पोरेट कानून शामिल है।  आप किसी प्रमुख विशेषज्ञता को हासिल करने के लिए इस पाठ्यक्रम का चयन कर सकते है।
  • बीए एलएलबी पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए आप कुछ प्रमुख संस्थान जैसे;- डॉक्टर बी आर अंबेडकर कॉलेज आफ लॉ – विशाखापट्टनम,  आईएलएस लॉ कॉलेज पुणे या किसी भी कॉलेज का चयन कर सकते है।



कानून की पढ़ाई के लिए शीर्ष कॉलेजका चयन करें Top College to Study Law 

  • Symbiosis Law School, Pune 
  • Siksha O’ Anusandhan (Deemed to be University) 
  • KIIT School of Law (KSOL)
  • LPU – Lovely Professional University 
  • School of Law, UPES 
  • ICFAI Law School 
  • Army Institute of Law, Mohali 
  • Amity University, Gurugam, Haryana

बार काउंसिल के साथ नामांकन करें

जब आप कानून के क्षेत्र में डिग्री हासिल कर लेते हैं तब आप एक लॉयर यानी कि एक वकील बन जाते हैं लेकिन एक अधिवक्ता बनने के लिए आपको बार काउंसिल में नामांकन करवाना काफी ज्यादा आवश्यक होता है। बार काउंसिल में नामांकन करवाने के बाद ही आप लॉयर से एडवोकेट में प्रमोट हो सकते है।

बार काउंसिल परीक्षा को उत्तीर्ण कर लेने के बाद आप कोर्ट में प्रेक्टिस करने के योग्य हो जाते हैं और आप एक अधिवक्ता (Advocate) बन जाते है

निष्कर्ष 

इस लेख के माध्यम से हमने आपको 12वीं कक्षा या ग्रेजुएशन के बाद एडवोकेट बनने के सभी चरणों के बारे में विस्तार से बताया है। एक बार जब आप अपनी लॉ की डिग्री हासिल कर लेते हैं और बार काउंसिल में नामांकन करवा लेते हैं तब आप कोर्ट में प्रैक्टिस कर सकते हैं और अपने क्लाइंट को कोर्ट में रिप्रेजेंट कर सकते है। यहां पर हमने आपको 12वीं कक्षा के बाद एडवोकेट कैसे बनें (How to Become an Advocate) के बारे में विस्तार से समझाया है। 

 

Related Posts

Updated: 13/12/2023 — 9:34 AM

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *