ब्रांड मैनेजर कैसे बनें | How To Become Brand Manager – Career Guide, Eligibility, After 12th, Salary, Scope

जाने इस पोस्ट में क्या क्या है

मैनेजर कैसे बनें ? ( How Became Brand manager) : कोई भी व्यक्ति किसी प्रोडक्ट को अगर ब्रांड के रूप में तब्दील करना चाहता है तो उसे ब्रांड मैनेजर की जरूरत पड़ेगी तभी जाकर वह किसी प्रोडक्ट को मार्केट में ब्रांड के रूप में स्थापित कर पाएगा ब्रांड मैनेजर प्रमुख तौर पर किसी भी कंपनी के प्रोडक्ट की मार्केटिंग के अलावा उसके विज्ञापन संबंधित नीतियों को निर्धारित करने में अहम भूमिका निभाता है

BiharHelp App

इसलिए आज के समय हर एक कंपनी को ब्रांड मैनेजर की जरूरत है अगर आप भी इस क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते हैं परंतु आप ब्रांड मैनेजर कैसे बनेंगे योग्यता क्या होगी कौन से कोर्स करने होंगे सैलरी कितनी मिलेगी अगर आप इन सभी के बारे में नहीं जानते हैं तो आज का आर्टिकल में  मैनेजर कैसे बनें ? ( How Became Brand manager) के बारे में डिटेल जानकारी आपसे शेयर करेंगे इसलिए आप हमारा लेख पूरा पढ़ेंगे आईए जानते हैं-\

ब्रांड मैनेजर कैसे बनें

How To Become Brand Manager – Overview

Name of the Article How Became Brand manager
Type of Article Career
Salary  INR 4.50 – 6 LPA
Skill विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL GRE/GMAT के नंबर होना जरूरी है।
Detailed Information Please Read  The Article Completely.

ब्रांड मैनेजर क्या होता है? (Brand manager kya hota hai )

एक ब्रांड मेनेजर वह होता है जो किसी कंपनी के लिए ब्रांड रणनीति तैयार करता है।  ब्रांड मैनेजर का प्रमुख काम कस्टमर के साथ कंपनी के संबंध को मजबूत करना है ताकि कंपनी के प्रोडक्ट कस्टमर तक आसानी से पहुंच सके आसान भाषा में कहे तो कस्टमर और कंपनी के बीच में कम्युनिकेशन प्रक्रिया को संचालित करने का काम ब्रांड मैनेजर का होता हैं।




ब्रांड मैनेजर्स के प्रकार ( Type of Brand manager)

ब्रांड एग्जीक्यूटिव: ब्रांड प्रमोशन और ब्रांड से जुड़े हुए चीजों का कम्युनिकेशन करने का काम करता है हम आपको बता दे की ब्रांड एग्जीक्यूटिव आमतौर पर क्रिएटिव टीम और फाइनेंस टीमों के बीच मिडिल मैन के तौर पर काम करता है ब्रांड एग्जीक्यूटिव औसत सालाना वेतन INR 2.91 Lakh  रुपए तक होती है

सीनियर ब्रांड एनालिस्ट:

सीनियर ब्रांड एनालिस्ट मुख्य तौर पर ब्रांड मैनेजमेंट के कामों से जुड़े हुए चीजों की रणनीति को बनता है ताकि किसी भी ब्रांड का प्रमोशन आसानी से किया जा सके।   ब्रांड विश्लेषक औसत सालाना वेतन INR 4.85 लाख होता है।

ब्रांड  मैनेजर

ब्रांड मैनेजर किसी भी कंपनी के इमेज को मार्केट में सही तरीके से स्थापित करने का काम करता है इसके लिए वह लगातार कंपनी के विज्ञापन विभाग के अंतर्गत काम करता है और अधिक से अधिक कंपनी का सकारात्मक प्रचार करता है ताकि मार्केट में कंपनी की  इमेज अच्छी दिखे इसके अलावा ब्रांड मैनेजर मुख्य तौर पर ब्रांड कैसा दिखना है, क्या संप्रेषित किया जाना है, प्रोडक्ट डेवलपमेंट, मूल्य निर्धारण, प्रचार, बजट आदि। का काम करता हैं।

How To Become Brand Manager

लक्ज़री ब्रांड मैनेजर:

भारत में कई ऐसी कंपनियां है जिनके प्रोडक्ट काफी लग्जरी होते हैं ऐसे में उनके प्रोडक्ट को मार्केट में सही तरीके से प्रमोट किया जा सके इसके लिए कंपनियां लग्जरी ब्रांड मैनेजर हायर करती है जिनका कम प्रीमियम ब्रांडों को मार्केट में किस तरीके से स्थापित करना है उससे संबंधित रणनीति बनाना है इसके लिए वह बाजार में रिसर्च करने का भी काम करती है ताकि उनको मालूम चल सके कि किस प्रकार हुआ किसी की लग्जरी ब्रांड को मार्केट के अंदर कैसे प्रमोट करना है।

R एंड D मैनेजर:

रिसर्च एंड डेवलपमेंट मैनेजर प्रमुख तौर पर नए प्रोडक्ट को मार्केट में लॉन्च संबंधित रणनीति बनाने का काम करता है इसके अलावा अगर प्रोडक्ट में किसी प्रकार की कोई कमी है तो उसमें बदलाव करने का काम भी रिसर्च और डेवलपमेंट मैनेजर के द्वारा किया जाता है

नए उत्पादों और सेवाओं के विकास और लॉन्चिंग के लिए जिम्मेदार है। लॉन्च करने के अलावा वे उत्पादों के परीक्षण और एक साथ बदलाव करने के प्रभारी भी हैं जो कंपनी को उसके लाभ के मामले में लाभान्वित करेंगे। इस पद के लिए औसत सालाना वेतन INR 11.73 लाख होता हैं।

Diploma Courses After 12th

हेड ऑफ मार्केटिंग

हेड ऑफ मार्केटिंग कंपनी का प्रमुख मार्केटिंग अधिकारी होता है इसके अंतर्गत कंपनी का मार्केटिंग विभाग संचालित होता है, हेड ऑफ मार्केटिंग अधिकारी के द्वारा  ब्रांड इमेज संप्रेषित किया जाता है इसके अलावा वे सभी मार्केटिंग अभियानों की ब्रांडिंग, प्रचार और विज्ञापन की देखरेख करते हैं।

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए जरूरी स्किल क्या है? ( Required Skills for Brand manager)

  • बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल्स
  • निर्णय लेने का कौशल
  • समस्या समाधान करने की कुशलताएं
  • रणनीतिक सोच का कौशल
  • क्रॉस-फंक्शनल रूप से काम करने की क्षमता
  • परियोजना प्रबंधन में जरूरी अनुभव

ब्रांड मैनेजर बनने की योग्यता ( Brand Manager Eligibility)

  • बैचलर्स करने के लिए 12वीं के डिग्री होनी चाहिए
  • मास्टर्स करने के लिए  किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर्स (मार्केटिंग, बिज़नेस या संबंधित क्षेत्र) पास होना जरूरी है
  • पीएचडी करने के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से MBA) का डिग्री होना आवश्यक
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL GRE/GMAT के नंबर होना जरूरी है।




ब्रांड मैनेजर बनने के लिए कौन-कौन सा कोर्स करना होगा? ( Brand manager Course)

  • BBA
  • BMS
  • BBS
  • BMM
  • MBA
  • Post Graduate diploma in Management
  • Diploma in Brand Management

Also Read

ब्रांड मैनेजर करियर विकल्प ( Brand manager Option)

ब्रांड मैनेजर कोर्स करने के बाद आपके सामने कई प्रकार के करियर विकल्प आएंगे  इसे कर आप ब्रांड मैनेजर बन सकते हैं जिसका विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं

  • असिस्टेंट ब्रांड मैनेजर
  • ब्रांड मैनेजर
  • सीनियर ब्रांड मैनेजर
  • मार्केट एनालिस्ट
  • मार्केटिंग डायरेक्टर

ब्रांड मैनेजर कोर्स करने के लिए भारत में  सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय ( Best brand Manager course university In India




ब्रांड मैनेजर कोर्स करने के लिए विदेश में सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय ( best foreign University Brand manager course)

  • स्टैनफोर्ड ग्रेजुएट, स्कूल ऑफ बिजनेस, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी
  • द व्हार्टन स्कूल ऑफ़ द यूनिवर्सिटी ऑफ़ पेंसिल्वेनिया
  • हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल
  • एचईसी पेरिस
  • लंदन बिजनेस स्कूल
  • कोलंबिया बिजनेस स्कूल
  • सेनेका कॉलेज

ब्रांड मैनेजर की सैलरी ( Brand manager salary)

ब्रांड मैनेजर को वेतन कितना मिलता है तो हम आपको बता दे की शुरुआती दिनों में वेतन 2-4 (लाख/सालाना) है। हालांकि, अनुभव के साथ, वार्षिक सीटीसी 25-30 सालाना  वेतन भी कमा सकते हैं और विदेशों में जो लोग ब्रांड मैनेजर के तौर पर काम करते हैं उनकी सैलरी करोड़ों में होती है परंतु उसके लिए आपका एक्सपीरियंस अच्छा होना चाहिए

क्विक लिंक्स

Join Our Telegram Group Click Here

FAQ

ब्रांड मैनेजर कौन होता है

ब्रांड मैनेजर वह होता है जो किसी कंपनी के लिए ब्रांड रणनीति को तैयार करता है इसके अलावा कंपनी के प्रोडक्ट को किस प्रकार लोगों तक पहुंचाया जाए उसके बारे में एक विशेष रणनीति बनाई जाती है और विज्ञापन टीम भी ताकि प्रोडक्ट की ब्रांडिंग अच्छी तरह से हो सके

ब्रांड मैनेजर जिम्मेदारियां क्या–क्या होती हैं?

ब्रांड मैनेजर के काम और जिम्मेदारियां इस प्रकार होती हैं- रिसर्च आवश्यकताओं की पहचान करना, रिसर्च अध्ययन और परियोजनाओं का पालन, ब्रांड मैनेजमेंट का कितना बजट होगा उसके बारे में रूपरेखा तैयार करना

ब्रांड मैनेजर बनने के लिए कौन सी स्किल्स अनिवार्य हैं?

ब्रांड मेजर बनने के लिए कौन-कौन से skill की जरूरत है उसके बारे में हमने आर्टिकल में आपसे शेयर किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *