Mission Karmayogi Yojna 2022 : मिशन कर्मयोगी योजना 2022 , आइये जानते हैं इसका लाभ और उद्देश्य

Mission Karmayogi Yojna 2022 : नमस्कार दोस्तों , स्वागत हैं आज आपका अपना हिंदी ब्लॉग Biharhelp.in में | आज मैं इस आर्टिकल के माध्यम से बात करूँगा Mission Karmayogi Yojna 2022 के बारे में | अगर आप इस योजना के बरा में नहीं जानते हैं तो आप सही जगह पर आये हैं, यहाँ पर आपको इस योजना से जुडी सभी प्रकार की जानकारी प्रदान की जाएगी |

मिशन कर्मयोगी योजना 2022 की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा शुरू की गयी है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य सिविल अधिकारीयों व कर्मचारियों की कार्यक्षमता में वृद्धि करना है। 2 सितम्बर 2020 को (NPCSCB) मिशन कर्मयोगी योना 2022 को केबिनेट बैठक में इसे मंजूरी दी गयी।

इस योजना के माध्यम से सिविल अधिकारीयों को ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रशिक्षण दिया जायेगा। जिससे की अधिकारीयों की तर्कशक्ति, रचनात्मक, पारदर्शी बनाने के लिए तैयार किया जायेगा ताकि लोगों को सेवाएं आसानी से उपलब्ध हो सके। ये योजना एक कौशल निर्माण कार्यक्रम है। जिससे केबिनेट की पूरी देखरेख में किया जायेगा। और साथ ही मुख्यमंत्री और एचआर परिषद भी इसमें सम्मिलित होंगे।

ission Krmayogi yojana के लिए सरकार द्वारा 5 साल का बजट बना दिया गया है जिसमे कुल 510.86 करोड़ निर्धारित किया गया है। हम आपको योजना से जुडी सारी जानकारी साझा करेंगे। जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

Mission Karmayogi Yojna 2022

Mission Karmayogi Yojna 2022: Overview

स्कीम का नाम मिशन कर्मयोगी योजना 2022
किसके द्वारा लांच किया गया प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
श्रेणी केंद्र सरकार
लाभार्थी सिविल अधिकारी, सरकारी कर्मचारी
उद्देश्य कर्मचारियों के कौशल का विकास करना
प्रशिक्षण ऑनलाइन माध्यम द्वारा
आवेदन मोड़ ऑनलाइन मोड
आधिकारिक वेबसाइट अभी जारी नहीं की गयी

 




मिशन कर्मयोगी योजना 2022

इस स्कीम के अंतर्गत लगभग 46 लाख सरकारी कर्मचारी आएंगे। और योजना के माध्यम से अधिकारीयों का स्कील डेवलपमेंट किया जायेगा। और वे समाज सेवा में अपना काफी बेहतर योगदान दे सके। जिससे की अधिकारीयों की ऑन द साइड की ट्रेनिंग पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। इसके लिए अधिकारीयों को लेपटॉप वितरण किये जायेंगे।

कर्मचारियों अधिकारीयों को प्रशिक्षण देने के लिए अलग विभाग से टॉप अधिकारीयों को सम्मिलित किया जायेगा। मिशन कर्मयोगी योजना 2022 के अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के काम करने की क्षमता को बढ़ाया जायेगा। इस योजना में नए चयन किये गए सिविल अधिकारी सरकारी कर्मचारी कोई भी किसी भी समय योजना के अंतर्गत लाभ उठा सकते हैं।

यह भी पढ़े 

 

मिशन कर्मयोगी योजना का उद्देश्य

Mission Krmayogi yojana 2022– का मुख्य उद्देश्य है सरकारी कार्यालय में कार्यरत सभी कर्मचारियों की योग्यता को उन्नत करना। योजना के माध्यम से कर्मचारियों के लिए विभिन्न प्रकार के कार्यकर्मों के माध्यम से लर्निंग कंटेंट एवं ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी। जिसके तहत सरकारी विभागों में मौजूद सभी कर्मचारियों की योग्यता को एक नई दिशा प्रदान की जाएगी।

मिशन कर्मयोगी का अभिप्राय आने वाले कल के लिए भारतीय सिविल सेवक को अधिक क्रिएटिव , इमैजिनेटिव , एक्टिव , प्रोफेशनल, प्रोग्रेसिव , एनर्जेटिक, समर्थ, ट्रांसपेरेंट और टैक्नोलॉजी-कैपेबल बनाकर उपस्थित करना है। ताकि वो अपनी बेहतर क्षमता के साथ अपना कार्य कर सकें।

Mission Karmayogi Yojna 2022

 




 

मिशन कर्मयोगी योजना के लाभ व विशेषताएं

  • योजना की शुरुआत 2 सितम्बर 2020 को शुरू की गयी है।
  • सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम (NPCSCB) को सिविल सर्विसेज में आने वाले अधिकारीयों के लिए तैयार किया गया है।
  • इस योजना के तहत सरकारी अधिकारीयों, कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे की वे अपने कार्य कुशल में निपूर्ण हो सके।
  • मिशन कर्मयोगी योजना के अंतर्गत ऑन द साइड ट्रेनिंग पर अधिक ध्यान दिया जायेगा।
  • कर्मयोगी स्कीम के अंतर्गत लगभग 46 लाख कर्मचारी आएंगे।
  • योजना का बजट 510.86 करोड़ रूपये निर्धारित किये गए हैं।
  • योजना में काम करने की पारदर्शिता आएगी और काम करने में तेजी आएगी जिससे की आम लोगों का काम जल्दी से हो जाये।
  • योजना के तहत 2 मार्ग होंगे स्वचलित और निर्देशित।
  • 5 वर्ष के लिए 2020-21 से 2024-25 तक योजना को चलाया जायेगा। जिस पर होने वाला व्यय पहले से ही तय किया जा चुका है।
  • योजना का संचालन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया जायेगा। साथ ही सभी मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।
  • ऑफ साइट सिखने की पद्धति को बेहतर बनाने के लिए ऑन साइट सीखने की पद्धति को बेहतर बनाना।
  • स्कीम के तहत एक स्वामित्व वाली विशेष परियोजना वाहन कम्पनी का गठन किया गया है। जो की iGOT कर्मयोगी की प्लेटफॉर्म का स्वामित्व और प्रावधान करेगी।
  • अधिकारीयों के काम करने में अधिक शैली आएगी।
  • योजना के अंतर्गत सिविल में जितने भी अधिकारी या कर्मचारी आते हैं उनका योग्यता क्षमता को बढ़ाया जायेगा जैसे की क्रिएटिविटी, प्रगतिशील, इनोवेटिव आदि।

Mission Karmayogi Yojna 2022

 




Mission Karmayogi सिविल सेवा में किये गए बदलाव

सिविल सेवा से जुड़े सभी कर्मचारी और अधिकारी किसी भी समय अपना योजना के अंतर्गत शामिल हो सकते हैं और ट्रेनिंग ले सकते हैं इससे जुड़ने के बाद आपको ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए लेपटॉप, मोबाइल की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। और सिविल सेवाओं से जुड़े लोगों को ट्रेनिंग के लिए अलग-अलग विभागों के ट्रेनर को शामिल किया जायेगा।

इसमें ऑफ साइट सीखने के कॉन्सेप्ट को बेहतर बनाते हुए ऑन द साइट सीखने के सिस्टम पर भी जोर दिया जायेगा। मिशन कर्मयोगी योजना के अंतर्गत एक स्वामित्व वाली विशेष परियोजन वाहन कंपनी का गठन किया जायेगा जो की कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8 के अंतर्गत किया जायेगा। ये एक नॉन-प्रॉफ़िट संगठन होगा जो की iGOT कर्मयोगी प्लेटफॉर्म का स्वामित्व और प्रबंधन करेगी।

 

iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म 

iGOT कर्मयोगी प्लेटफॉर्म के माध्यम से डिजिटल लर्निंग की सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। iGOT कर्मयोगी प्लेटफॉर्म को एक विश्व स्तरीय बाजार बनाने का भी प्रयास किया जा रहा है। iGOT कर्मयोगी के माध्यम से कर्मचारी का क्षमता निर्माण ई-लर्निंग कॉन्टेक्ट के माध्यम से किया जायेगा। इसी के साथ ही अन्य सुविधाएँ भी उपलब्ध कराई जाएगी।

कर्मयोगी योजना

मिशन कर्मयोगी योजना को सिविल सेवाओं से जुड़े अधिकारीयों कर्मचारियों के कौशल और योग्यता क्षमता में वृद्धि करने के लिए स्कीम को लांच किया गया है। ताकि अधिकारीयों के पास अधिक तर्कशक्ति और सोचने समझने की क्षमता में वृद्धि हो सके और साथ ही सरकार द्वारा कई सुविधाएँ देने के लिए इनमें सुधार करेगी। कर्मचारियों को ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जाएगी, ई लर्निंग कंटेंट प्रदान किया जायेगा। जिससे की कर्मक्षमता में वृद्धि हो सके।




ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म

  • परिवीक्षा अवधि के बाद की पुष्टि
  • तैनाती
  • रिक्तियों पदों की जानकारी
  • कार्य निर्धारण
  • अन्य सेवाएं।

Mission Karmayogi Yojna 2022

 

मिशन कर्मयोगी योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले प्रशिक्षण

योजना के अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के निम्न कौशलों पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। जो कुछ इस प्रकार है।

  • इनोवेटिव
  • प्रगतिशील
  • सक्षम
  • पारदर्शी
  • तकनिकी दौर पर तक्ष आदि
  • क्रिएटिविटी
  • ऊर्जावान
  • पारदर्शी
  • कल्पनाशीलता
  • प्रोएक्टिव

 




Important Links

Official website  Launch Soon 
Join Our Telegram Group Click Here

 




यह भी पढ़े 

 

FAQ About Mission Karmayogi Yojna 2022

मिशन कर्मयोगी से जुडी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

मिशन कर्मयोगी से जुडी आधिकारिक वेबसाइट अभी लांच नहीं की गयी है।

प्रशिक्षण के लिए कितना बजट निर्धारित किया गया है ?

इस योजना के लिए 5 वर्ष तक बजट निर्धारित किया गया है। जो की 510.86 करोड़ रूपये हैं।

योजना का संचालन किसके द्वारा किया जायेगा ?

इस योजना का संचालन प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा संचालन किया जायेगा और साथ ही इसमें एचआर सचिव और मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे।

कर्मयोगी मिशन योजना के अंतर्गत किस कौशल का प्रशिक्षण दिया जाएगा ?

इस मिशन के तहत उनके विभिन्न कौशल निर्माण किया जाएगा जैसे की उनमें क्रिएटिविटी , इनोवेटिव , एनर्जेटिक , पारदर्शिता , प्रगतिशीलता , प्रो एक्टिव , तकनीकी रूप से दक्ष बनाया जाएगा।

मिशन कर्मयोगी योजना का उद्देश्य क्या है ?

इस योजना का उद्देश्य सिविल सेवा से जुड़े सभी कर्मचारियों और अधिकारीयों के कार्य क्षमता को बढ़ावा देना है।

सिविल सेवा के कितने अधिकारी और कर्मचारियों को योजना के अंतर्गत रखा गया है ?

सिविल सेवा से जुड़े 46 लाख कर्मचारी योजना के अंतर्गत आएंगे।

योजना में आवेदन कैसे करें ?

योजना में अभी आवेदन की कोई जानकारी नहीं दी गयी है लेकिन आप किसी भी समय योजना का हिस्सा बन सकते हैं।

मिशन कर्मयोगी योजना को कब और किसके द्वारा मंजूरी दी गयी ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में मिशन कर्मयोगी योजना को 2 सितंबर 2020 को मंजूरी दी गयी

भारत सरकार के द्वारा इस योजना को सफल बनाने के लिए कितना बजट निर्धारित किया गया है ?

मिशन कर्मयोगी योजना को सफल बनाने के लिए भारत सरकार के द्वारा 510.86 करोड़ रूपए बजट निर्धारित किया गया है। यह बजट योजना के अंतर्गत 5 वर्षों की अवधि के लिए तय किया गया है।

Updated: 29/04/2022 — 11:18 AM

Leave a Reply

Your email address will not be published.